ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਭਾਰ ਵਧਣ ਦਾ ਕਾਰਨ: ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਿਤ ਹਵਾ ਵਿਚ ਸਾਹ ਲੈਣਾ ਭਾਰ ਵਧਾ ਸਕਦਾ ਹੈ


ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਭਾਰ ਵਧਣ ਦਾ ਕਾਰਨ: ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਿਤ ਹਵਾ ਵਿਚ ਸਾਹ ਲੈਣਾ ਭਾਰ ਵਧਾ ਸਕਦਾ ਹੈ

ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਕਾਰਨ ਭਾਰ ਵਧਣਾ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਿਤ ਹਵਾ ਦਾ ਲੰਬੇ ਸਮੇਂ ਤਕ ਸੰਪਰਕ ਸਿਹਤ ਦੀਆਂ ਗੰਭੀਰ ਸਮੱਸਿਆਵਾਂ ਜਿਵੇਂ ਸਾਹ ਦੀਆਂ ਸਮੱਸਿਆਵਾਂ, ਸਾਹ ਦੀ ਨਾਲੀ ਵਿਚ ਜਲਣ, ਦਮਾ, ਗੁਰਦੇ ਦੀਆਂ ਸਮੱਸਿਆਵਾਂ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣ ਸਕਦਾ ਹੈ.

ਨਵੀਂ ਦਿੱਲੀ, ਲਾਈਫਸਟਾਈਲ ਡੈਸਕ. ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਭਾਰ ਵਧਾਉਣ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣਦਾ ਹੈ: ये सब जानते हैं कि प्रदूषित हवा में सांस लेने से आपके फेफड़े और दिल दोनों पर खतरनाक असर पड़ता है। हवा में छोटे धूल के कणों के लंबे समय तक संपर्क में रहने से सांस संबंधी समस्याएं, सासं की नली में जलन, अस्थमा, किडनी की समस्याएं जैसे गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं और कई बार यह कैंसर का कारण भी बन सकता है। वहीं, एक नई रिसर्च में पाया गया है कि प्रदूषित हवा में सांस लेने से मोटापे के भी शिकार हो सकते हैं।

क्या कहती है रिसर्च 

प्रायोगिक जीवविज्ञान के लिए फेडरेशन ऑफ अमेरिकन सोसाइटीज के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, वायु प्रदूषण हमारे वज़न पर एक बड़ा प्रभाव डाल सकता है। शोधकर्ताओं ने चूहों पर यह अध्ययन किया, जिसके दौरान उन्होंने गर्भवती चूहों को प्रदूषित जगह पर रखा जबकि दूसरे ग्रुप को साफ हवा वाली जगह रखा। 19 दिनों के बाद ये पाया गया कि जो चूहे प्रदूषित हवा में सांस ले रहे थे उन्हें इस तरह की दिक्कते आ रही थीं:

– उनके फेफड़े फूल गए थे।

– एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 50 प्रतिशत तक बढ़ गया।

– इंसुलिन प्रतिरोध स्तर भी बढ़ गया।

इसके अलावा जो चूहे भयानक प्रदूषण में जी रहे थे उनका 8 हफ्तों बाद वज़न भी बढ़ गया था, जबकि चूहों के दोनों समूह को एक सा खाना दिया गया था।

नतीजा क्या निकला?

यह माना गया कि इंफ्लेशन की वजह से वज़न बढ़ा था। हालांकि, ये अध्ययन चूहों पर किया गया था लेकिन प्रदूषण का असर इंसानों पर भी वैसा ही होगा। यही वजह है कि आपको इस प्रदूषण से बचने की ज़रूरत है। जब भी आप बाहर जाएं तो फेस मास्क पहनना न भूलें। हो सके तो अपने घरों में एयर प्यूरीफायर और ऐसे पौधे लगाएं जो हवा को ताज़ा बनाते हैं।

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।