ਅਲਜ਼ਾਈਮਰ ਰੋਗ: womenਰਤਾਂ ‘ਤੇ ਸਭ ਤੋਂ ਮਾੜਾ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕਿਉਂ ਹੁੰਦਾ ਹੈ?


ਅਲਜ਼ਾਈਮਰ ਰੋਗ: womenਰਤਾਂ 'ਤੇ ਸਭ ਤੋਂ ਮਾੜਾ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕਿਉਂ ਹੁੰਦਾ ਹੈ?

Inਰਤਾਂ ਵਿਚ ਅਲਜ਼ਾਈਮਰ ਵਧਣਾ ਜਦੋਂ ਅਸੀਂ ਅੱਧ ਉਮਰ ਵਿਚ ਪਹੁੰਚਦੇ ਹਾਂ ਤਾਂ ਇਹ ਸਾਡੇ ਦਿਮਾਗ ਤੇ ਅਸਲ ਪ੍ਰਭਾਵ ਪਾਉਂਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਅਲਜ਼ਾਈਮਰ ਦਾ ਰੂਪ ਲੈਂਦਾ ਹੈ.

ਨਵੀਂ ਦਿੱਲੀ Inਰਤਾਂ ਵਿੱਚ ਅਲਜ਼ਾਈਮਰ ਵਧਣਾ: आज की ज़िंदगी में ऐसा शायद ही कोई शख्स हो जो तनाव से बच सके। सभी की ज़िंदगी में किसी न किसी वजह से तनाव रहता ही है। अहम बात यह है कि हमें इसे कितनी अहमियत देनी है। तनाव सभी को होता है लेकिन अच्छी बात यह है कि आप इसे सुधार भी सकते हैं। 

अगर आप इसका समाधान नहीं ढूढ़ेंगे तो इसका असर आपको आपकी मध्य आयु के दौरान दिखेगा। जब हम मध्य आयु में पहुंच जाते हैं तो इसका असली असर हमारे दिमाग पर पड़ता है और यह अल्जाइमर का रूप ले लेता है।

क्या है अल्ज़ाइमर
अल्जाइमर डिमेंशिया का सबसे आम रूप है, जो बीमारियों का एक समूह है, जिसमें मानसिक सक्रियता कम हो जाती है। अल्जाइमर या ऐसी अन्य बीमारियों में जैसे-जैसे देखभाल करने वालों की संवेदना कम होती है, बीमारी बढ़ती जाती है।  

अल्जाइमर्स डिजीज इंटरनेशनल में प्रकाशित शोध से पता चला है कि दुनिया में ऐसे लोगों की संख्या कम नहीं है जो अल्जाइमर से पीड़ित हैं। इसमें ग़ौर करने वाली बात यह है कि अल्जाइमर रोगियों में लगभग दो-तिहाई महिलाएं हैं। आखिर यह बीमारी हमारे घर के पुरुषों के मुकाबले हमारी महिलाओं और बहनों को ही सबसे ज्यादा प्रभावित क्यों करती है?

यह है वजह
एक नए शोध से यह पता चला है कि तनावपूर्ण अनुभवों की वजह से मध्य आयु वर्ग की महिलाओं में याददाश्त की कमी और अल्जाइमर रोग का जोखिम बढ़ता जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका ‘गैरियाटिक साइक्रेट्री’ में प्रकाशित शोध निष्कर्ष के मुताबिक, स्ट्रेस हार्मोन मस्तिष्क के स्वास्थ्य में लैंगिक आधार पर अलग-अलग भूमिका निभाते हैं और महिलाओं में पुरुषों की तुलना में अल्जाइमर रोग अधिक होने का कारण यही है।

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

अल्जाइमर्स एसोसिएशन के मुताबिक, 60 साल से अधिक उम्र की हर छह में से एक महिला अल्जाइमर रोग से पीड़ित होती हैं, जबकि इस रोग से हर 11 में से एक पुरुष पीड़ित होता है। वर्तमान में इस रोग से बचाव या इस बीमारी को गंभीर होने से रोकने की कोई दवा नहीं बनी है।

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।