बिना पैसे खर्च किये भी कर सकते हैं मच्छरों से बचाव, अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय


बिना पैसे खर्च किये भी कर सकते हैं मच्छरों से बचाव, अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय

डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के इलाज में भी भारी भरकम खर्च आता है। हालांकि इसके कई घरेलू उपाए भी हैं जिनके इस्तेमाल से आप अस्पताल के खर्च से बच सकते हैं।

नई दिल्ली, जेएनएन। बारिश के मौसम में सभी को गर्मी से राहत ज़रूर मिलती है लेकिन साथ ही मच्छरों और उससे फैलने वाली बीमारियां का खतरा भी तेज़ी से बढ़ता चला जाता है। जिसकी वजह से मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया और जीका वायरस जैसी बीमारियां फैलना शुरू हो जाती हैं। यह ऐसी बीमारियां हैं जिनके इलाज में भी भारी भरकम खर्च आता है। हालांकि इसके कई घरेलू उपाए भी हैं जिनके इस्तेमाल से आप अस्पताल के खर्च से बच सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि आप मच्छरों से फैलने वाली इन बीमारियों का घरेलू इलाज कैसे कर सकते हैं।

घरेलू उपाय

नींबू और नीलगिरी का तेल : मॉस्किटो रेपेलेंट की खाली बोतल में नींबू का रस और नीलगिरी का तेल भरकर जलाएं। ये मच्छरों को भगाने का काम करता है। 

केरोसीन, नीम का तेल और कपूर : इसके लिए आपको एक लैम्प की ज़रूरत पड़ेगी। एक लैम्प में थोड़ा सा केरोसीन और कुछ बूंदें नीम के तेल की लें। इसमे कपूर की दो टिकिया मिला दें। इस लैम्प को जलाने स भी मच्छर भाग जाते हैं।

कपूर जलाएं : कमरे में कपूर जलाने से मच्छर भाग जाते हैं। कपूर जलाने से पहले 10 मिनट के लिए खिड़की दरवाजे बंद कर दें। इससे सारे मच्छर भाग जाएंगे।

नींबू और लौंग का घोल: जिस जगह ज्यादा मच्छर आते हैं वहां नींबू और लौंग के घोल का छिड़काव करें। मच्छर आसपास भी नहीं भटकेंगे।

सोते समय ये जरूर करें : सोते समय लहसुन की कच्ची कली चबाने से मच्छर नहीं काटते। इसके साथ ही लहसुन शरीर के रक्त संचार को भी बेहतर करता है।

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

सिट्रोनेला केंडल जलाएं : सिट्रोनेला एक के प्रकार की हर्ब है मच्छरों को इसकी गंध बिल्कुल पसंद नहीं आती, इसलिए सिट्रोनेला केंडल को जलाने से आप अपने घर को बड़ी आसानी से मच्छर मुक्त कर सकते हैं।

नीम का तेल : नीम के तेल को हाथ-पैरों में लगाएं फिर नारियल के तेल में नीम का तेल मिलाकर दिया जलाएं।

 

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।