सावधान! जुलाई से अक्टूबर तक सबसे ज्यादा फैलती है ये बीमारी


सावधान! जुलाई से अक्टूबर तक सबसे ज्यादा फैलती है ये बीमारी

ਡੇਂਗੂ ਬੁਖਾਰ ਜਾਣੋ – ਉਹ ਕਿਹੜੇ ਮਹੀਨੇ ਹਨ ਜਦੋਂ ਡੇਂਗੂ ਬੁਖਾਰ ਹੋਣ ਦਾ ਖ਼ਤਰਾ ਵੱਧ ਜਾਂਦਾ ਹੈ …

नई दिल्ली, जेएनएन। बारिश से मौसम में ठंडक होने के साथ बीमारियों का आगमन भी हो चुका है। सबसे ज्यादा खतरा डेंगू का हो गया है, जिसका मच्छर पानी में पनपता है। डेंगू उन बीमारियों में शामिल है, जिसका इलाज अगर सही वक्त पर शुरू नहीं हुआ तो यह जानलेवा भी हो सकती है। पिछले कुछ सालों में हजारों लोगों की मौत की वजह डेंगू ही बना है। ऐसे में आपको यह जानना आवश्यक है कि आखिर वो कौनसे महीने हैं, जब डेंगू के होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है ताकि उस वक्त डेंगू से बचने के लिए अधिक कदम उठाए जा सके।

साफ पानी में पनपता है डेंगू का मच्छर

डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर रात में काटने के बजाय दिन में काटते हैं। ऐसे में रात से ज्यादा सुबह इन मच्छरों से बचना आवश्यक है। साथ ही एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता। वहीं यह मच्छर ज्यादा पुराने पानी में नहीं बल्कि तीन-चार दिन तक एक स्थान पर रखे पानी में भी पनप सकता है। इसलिए कूलर आदि की हर तीन-चार दिन में सफाई जरूर करें और घर में या आस-पास पानी जमा ना होने दें।

इन महीनों में होती है ज्यादा संभावना

वैसे तो गंदे पानी में मच्छर पनपने से बीमारियां होने का खतरा हमेशा बना रहता है, लेकिन बारिश में इसका खतरा ज्यादा बढ़ जाता है, क्योंकि जगह जगह पानी भरा होता है। डेंगू बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है, क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं।

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

कैसे फैलता है डेंगू

डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज के खून में डेंगू वायरस बहुत ज्यादा मात्रा में हो जाता है। जब कोई एडीज मच्छर डेंगू के किसी मरीज को काटता है तो वह उस मरीज का खून चूसता है। खून के साथ डेंगू वायरस भी मच्छर के शरीर में चला जाता है। वहीं यह मच्छर किसी और इंसान को काट लेता है तो भी इसके फैलने का खतरा बढ़ जाता है। 

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।