झड़ते बालों और चेहरे की झुर्रियां ही नहीं, कई गंभीर बीमारियों की भी वजह है कम नींद लेना


झड़ते बालों और चेहरे की झुर्रियां ही नहीं, कई गंभीर बीमारियों की भी वजह है कम नींद लेना

दिनभर काम करने के बाद अगर रात में आप अच्छी नींद नहीं लेते तो आगे चलकर ये बहुत बड़ी समस्या बन सकता है। तो क्यों 6-7 घंटे की नींद है जरूरी जानेंगे इसके बारे में।

कहने को तो हम सभी यही कहते हैं कि रात होते ही हम नींद की आगोश में चले जाते हैं, लेकिन क्या कभी आपने इस बात पर ध्यान दिया है कि आपके सोने का प्रतिदिन का समय निश्चित होता है। वर्तमान जीवनशैली और काम के दबाव के चलते प्रतिदिन एक निश्चित समय पर सोने का अवसर ही नहीं मिल पाता है। कई बार तो ऐसा होता है कि काम से फुर्सत मिलने के बाद हमें लगता है कि चलो अब फुर्सत मिली, अब थोड़ी देर आधुनिक गैजेट्स के साथ समय बिताया जाए। 

गैजेट्स चुरा सकता है चैन की नींद

वैज्ञानिकों के अनुसार आज के टेक्नो व‌र्ल्ड में रात के समय कई बार हम इंटरनेट का प्रयोग करने में व्यस्त हो जाते हैं तो कई बार साधारण चैटिंग में भी अपना समय व्यतीत करने लगते हैं। अगर हमें सोशल साइट्स की लत लग गई तो फिर हमारे सोने और जागने का शेड्यूल बुरी तरह से प्रभावित हो जाता है। टेक्नोलॉजी का प्रयोग हमें अपनी सुविधा के लिए करना चाहिए और इसके लिए कुछ नियम अवश्य बना लेने चाहिए। ऐसा न हो कि हम टेक्नोलॉजी के गुलाम बन जाएं, जैसा कि आजकल अधिकतर देशों में देखने को मिल रहा है। अगर हम प्रतिदिन एक नियत समय पर सोने का प्रयास नहीं करेंगे तो आगे चलकर हमें ढेर सारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

कम नींद लेना है सेहत के लिए नुकसानदायक   

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

1. नींद के प्रभावित होने से हृदय संबंधी समस्याएं होने के साथ ही डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

ਵਿਸ਼ਵ ਅਪਾਹਜਤਾ ਦਿਵਸ 2019: ਦੇਖਭਾਲ ਦੇ ਇਨ੍ਹਾਂ ਤਰੀਕਿਆਂ ਨੂੰ ਅਪਣਾ ਕੇ ਬੱਚਿਆਂ ਲਈ ਰਾਹ ਅਸਾਨ ਬਣਾਓ

ਵਿਸ਼ਵ ਅਪਾਹਜਤਾ ਦਿਵਸ 2019: ਦੇਖਭਾਲ ਦੇ ਇਨ੍ਹਾਂ ਤਰੀਕਿਆਂ ਨੂੰ ਅਪਣਾ ਕੇ ਬੱਚਿਆਂ ਲਈ ਰਾਹ ਅਸਾਨ ਬਣਾਓ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

2. मोटापे का शिकार हो सकते हैं साथ ही दिनभर थकावट महसूस होती है। 

ਨੀਂਦ ਦੀ ਘਾਟ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣ ਸਕਦੀ ਹੈ: ਨੀਂਦ ਨਾ ਹੋਣਾ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦੇ ਜੋਖਮ ਨੂੰ ਵਧਾ ਸਕਦਾ ਹੈ!

ਨੀਂਦ ਦੀ ਘਾਟ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣ ਸਕਦੀ ਹੈ: ਨੀਂਦ ਨਾ ਹੋਣਾ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦੇ ਜੋਖਮ ਨੂੰ ਵਧਾ ਸਕਦਾ ਹੈ!

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

3. नींद पूरी न होने से मानसिक सेहत पर भी असर पड़ सकता है। चिड़चिड़पन लगता है। 

ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਰੋਕਥਾਮ ਦਿਵਸ 2019: ਘਰ ਦੀ ਖੂਬਸੂਰਤੀ ਵਧਾਉਣ ਤੋਂ ਇਲਾਵਾ, ਇਹ ਇਨਡੋਰ ਪੌਦੇ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਤੋਂ ਵੀ ਦੂਰ ਰੱਖਣਗੇ

ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਰੋਕਥਾਮ ਦਿਵਸ 2019: ਘਰ ਦੀ ਖੂਬਸੂਰਤੀ ਵਧਾਉਣ ਤੋਂ ਇਲਾਵਾ, ਇਹ ਇਨਡੋਰ ਪੌਦੇ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਤੋਂ ਵੀ ਦੂਰ ਰੱਖਣਗੇ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

4. कम नींद लेने से स्किन भी डैमेज होकर अपनी चमक खोने लगती है और असमय झुर्रियां नज़र आने लगती हैं। बालों की सेहत पर भी अनियमित नींद विपरीत प्रभाव डालती है। 

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

यह भी पढ़ें

अगर आप अपने को विभिन्न प्रकार की शारीरिक और मानसिक समस्याओं से दूर रखना चाहती हैं तो आपको प्रतिदिन अपने सोने का समय निश्चित करना चाहिए। इस मामले में किसी प्रकार की बहानेबाजी आपके लिए ही नुकसानदेह साबित हो सकती है। हेल्थ एक्सप‌र्ट्स का कहना है कि नींद के संदर्भ में कोई एक पैमाना लागू नहीं है। कारण, हर एक के शरीर की आवश्यकता अलग होती है। फिर भी प्रतिदिन हर एक को 6 से 7 घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। 

 

सुकून भरी नींद के लिए इन चीजों का लें सकते हैं सहारा 

अच्छी नींद के लिए बिस्तर पर जाने से पहले अपने को पूरी तरह रिलैक्स कर लें मतलब आपका मन बिल्कुल शांत होना चाहिए। इसके लिए आप चाहें तो धीमी आवाज में संगीत का आनंद ले सकते हैं या थोड़ी देर मेडिटेशन कर सकते हैं। सुकून भरी नींद के लिए मसाज का भी ले सकते हैं सहारा। अपने हाथों से अपने सिर व बाकी शरीर की हल्की मसाज करने से अच्छी नींद आने में काफी मदद मिलती है।

 

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।