ऑफिस में देर तक बैठकर काम करने वालों के लिए बहुत ही फायदेमंद है मालासन


ऑफिस में देर तक बैठकर काम करने वालों के लिए बहुत ही फायदेमंद है मालासन

देर तक बैठकर काम करने वालों के लिए मलासन है बहुत ही फायदेमंद। जो आपके पैरों एडि़यों घुटनों और जांघों को मजबूत तथा लचीला बनाता है। जानेंगे इस आसन को करने की विधि और लाभ।

मालासन को गारलेंड पोज भी कहते हैं। दफ्तर में दिन भर बैठकर काम करने वालों के लिए यह आसन बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि यह शरीर और मन दोनों की क्षमता बढ़ाता है। यह आसन पैरों, एडि़यों, घुटनों और जांघों को मजबूत तथा लचीला बनाता है और शरीर के अंदर मौजूद गंदगी को दूर करता है।

विधि

दोनों पैरों के बीच करीब दो फीट की दूरी रखते हुए खड़े हों। दाहिने पैर का पंजा दायीं ओर और बाएं पैर का पंजा बायीं ओर मुड़ा हुआ हो। इस अवस्था में थोड़ा झुकें, मानो आप कुर्सी पर बैठे हुए हैं। दोनों हाथों से प्रणाम की मुद्रा इस प्रकार बनाएं कि दोनों कोहनियां कंधे के समानांतर लगें। अब जांघों को फैलाए रखते हुए, धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए अपनी कमर को और नीचे लाएं और बैठने की कोशिश करें (आप चाहें तो संतुलन बनाने के लिए हाथों को प्रणाम की मुद्रा में न रखकर जमीन पर भी टिका सकते हैं)। इस अवस्था में सहज सांस के साथ लगभग आधे से एक मिनट तक रहें। उसके बाद सांस भरते हुए पुन: कुर्सी पोज में कुछ सेकेंड रहें, फिर सामान्य अवस्था में आ जाएं।

फायदे

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

हेल्दी माइंड के लिए न करें इन 3 बातों को इग्नोर

यह भी पढ़ें

1. जांघ और पेट की चर्बी कम होती है।

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਅਜਵਾਇਨ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣ ਲਈ: ਜੇ ਤੁਸੀਂ ਭਾਰ ਘਟਾਉਣਾ ਚਾਹੁੰਦੇ ਹੋ, ਤਾਂ ਇਸ ਤਰੀਕੇ ਨਾਲ ਸੈਲਰੀ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕਰੋ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

2. गर्भाशय संबंधी तकलीफ, अपच, जोड़ों में दर्द और जांघों के खिंचाव में लाभदायक है।

ਵਿਸ਼ਵ ਅਪਾਹਜਤਾ ਦਿਵਸ 2019: ਦੇਖਭਾਲ ਦੇ ਇਨ੍ਹਾਂ ਤਰੀਕਿਆਂ ਨੂੰ ਅਪਣਾ ਕੇ ਬੱਚਿਆਂ ਲਈ ਰਾਹ ਅਸਾਨ ਬਣਾਓ

ਵਿਸ਼ਵ ਅਪਾਹਜਤਾ ਦਿਵਸ 2019: ਦੇਖਭਾਲ ਦੇ ਇਨ੍ਹਾਂ ਤਰੀਕਿਆਂ ਨੂੰ ਅਪਣਾ ਕੇ ਬੱਚਿਆਂ ਲਈ ਰਾਹ ਅਸਾਨ ਬਣਾਓ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

3. गर्भपात की समस्या दूर होती है।

ਨੀਂਦ ਦੀ ਘਾਟ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣ ਸਕਦੀ ਹੈ: ਨੀਂਦ ਨਾ ਆਉਣ ਨਾਲ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਖ਼ਤਰਾ ਵਧ ਸਕਦਾ ਹੈ!

ਨੀਂਦ ਦੀ ਘਾਟ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਕਾਰਨ ਬਣ ਸਕਦੀ ਹੈ: ਨੀਂਦ ਨਾ ਆਉਣ ਨਾਲ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਦਾ ਖ਼ਤਰਾ ਵਧ ਸਕਦਾ ਹੈ!

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

4. मानसिक और शारीरिक संतुलन सधता है।

ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਰੋਕਥਾਮ ਦਿਵਸ 2019: ਘਰ ਦੀ ਖੂਬਸੂਰਤੀ ਵਧਾਉਣ ਦੇ ਨਾਲ ਇਹ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਤੋਂ ਵੀ ਦੂਰ ਰੱਖੇਗੀ, ਇਹ ਇਨਡੋਰ ਪੌਦੇ

ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਰੋਕਥਾਮ ਦਿਵਸ 2019: ਘਰ ਦੀ ਖੂਬਸੂਰਤੀ ਵਧਾਉਣ ਦੇ ਨਾਲ ਇਹ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਤੋਂ ਵੀ ਦੂਰ ਰੱਖੇਗੀ, ਇਹ ਇਨਡੋਰ ਪੌਦੇ

ਵੀ ਪੜ੍ਹੋ

5. बिना किसी सहायता के तेजी से खड़ा होना संभव बनाता है।

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

प्रेग्नेंसी में होने वाले मूड स्विंग्स से निबटने का सबसे आसान उपाय है योग, जानें अन्य फायदे

यह भी पढ़ें

6. नितम्बों के जोड़ों को लचीला बनाता है।

7. पैर, कंधे, गर्दन और पीठ की मांसपेशियों का ढीलापन दूर होता है। पीठदर्द खास तौर से दूर होता है। पाचन शक्ति बढ़ती है और शरीर में ऊर्जा का संचार होता है।

8. गर्दन के आसपास की जकड़न की समस्या दूर होती है।

सावधानी

1. सुबह-शाम कभी भी कर सकते हैं, लेकिन खाली पेट ही करें।

2. इस योगासन को करते हुए एड़ी पर दबाव पड़ने से उसमें मोच आ सकती है।

3. कूल्हे या घुटने में दर्द की समस्या हो तो इस आसान को न आजमाएं।

4. आसन प्रारंभ करने से पूर्व थोड़ा वार्मअप कर लें, जिससे मांसपेशियां लचीली हो जाएं।

कुमार राधारमण (योग विशेषज्ञ, दिल्ली)

ਤਸਵੀਰ ਕ੍ਰੈਡਿਟ- ਪਿੰਟੇਰੇਸਟ.ਕਾੱਮ

ਜਵਾਬ ਦੇਵੋ

ਤੁਹਾਡਾ ਈ-ਮੇਲ ਪਤਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ਿਤ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇਗਾ। ਲੋੜੀਂਦੇ ਖੇਤਰਾਂ 'ਤੇ * ਦਾ ਨਿਸ਼ਾਨ ਲੱਗਿਆ ਹੋਇਆ ਹੈ।